Thursday, May 19www.babalkhabar.com : For your kind information
Shadow

पपीते के बीजों को न समझें बेकार, इन बीमारियों को कर देते हैं जड़ से खत्म

दोस्तों हर कोई अपनी डाइट में तरह-तरह की पत्तेदार सब्जियों और फलों को शामिल करता है। पत्तेदार सब्जियां और फल आपकी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। आयुर्वेद में इसे बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है। अपने आहार में फल खाने से हमें कई बीमारियों से छुटकारा मिलता है और हम स्वस्थ रह सकते हैं।

दोस्तों पपीता एक बहुत ही स्वादिष्ट और सेहतमंद फल है। पपीते का सेवन आपको सुंदरता के साथ-साथ स्वास्थ्य का लाभ भी देता है। इस फल का सही मात्रा में सेवन करने से आपके स्वास्थ्य को कई बीमारियों से बचाने में मदद मिलेगी। पपीते की तरह इसके बीजों में भी औषधीय तत्व होते हैं। ज्यादातर लोग पपीते के बीज को बेकार समझकर कूड़ेदान में फेंक देते हैं। लेकिन इसमें मौजूद पोषक तत्व स्वास्थ्य समेत त्वचा संबंधी कई समस्याओं से निजात दिलाने में मदद कर सकते हैं। ऐसा इसलिए क्‍योंकि पपीते के बीजों में पोषक तत्‍व भी काफी मात्रा में होते हैं।

आयुर्वेदिक उपचार में पपीते के बीजों को सुखाकर सेवन किया जाता है। इन बीजों का स्वाद थोड़ा कड़वा होता है। विशेषज्ञ की सलाह के अनुसार सीमित मात्रा में इन बीजों के सेवन से स्वास्थ्य को लाभ होता है। यह ऑक्सीडेटिव तनाव और पुराने विकारों को ठीक करने में मदद करता है। दोस्तों आज हम पपीते के बीज के फायदे और इससे जुड़े कुछ उपायों के बारे में और जानेंगे।

कोलेस्ट्रॉलः पपीते के बीजों में काफी मात्रा में मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड होते हैं, जिसमें विशेष रूप से ओलेक एसिड सबसे ज्यादा पाया जाता है. ये खराब कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) को कम कर में मदद कर सकते हैं.

शायद ही कोई जानता हो कि पपीते के बीज सूजन को कम करने में कितने कारगार हैं। इस फल के बीज विटामिन सी, एल्कलॉइड, फ्लेवोनॉइड और पॉलीफेनॉल्स जैसे योगिकों से भरपूर हैं। ये सभी यौगिक एंटी इंफ्लेमेट्री गुणों को दर्शाते हुए गठिया आदि में सूजन को कम करने में बेहद उपयोगी हैं।

डाइजेशनः पपीते के बीजों को पेट की लिए काफी अच्छा माना जाता है. पपीते के बीज में प्रोटियोलिटिक एंजाइम होते हैं जो आंतों में रहने वाले बैक्टीरिया को मारते हैं और डाइजेशन (Digestion) को बेहतर रखने में मदद कर सकते हैं.

वैसे तो कैंसर को जड़ से खत्म नहीं किया जा सकता, लेकिन पपीते के बीज शरीर को विभिन्न प्रकार के कैंसर से बचा सकते हैं। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स की मदद से इस लाइलाज बीमारी को बढऩे से रोका जा सकता है। इन बीजों में मौजूद आइसोथियोसाइनेट कैंसर सेल्स को निर्मित और विकसित होने से रोकने में भी सहायक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!